12 जनवरी 2020

सुख-दुःख । गीतों भरी कहानी । sukh dukh ki kahani

Also Read

सुख-दुःख । गीतों भरी कहानी । sukh dukh ki kahani

दोस्तों आज इस पोस्ट मैं लाया हूँ  sukh dukh ki Hasya kahani कहने का मतलब सुख-दुःखगीतों भरी कहानी आप इसे Funny Story in hindi भी कह सकते है. मुझे पक्का यकीन है आपको जरूर पसंद आएगा। आपको पसंद आये तो आप sukh dukh ki kahani को Whatsapp, facebook, Twitter,  पर जरूर शेयर करे.

सुख-दुःख । गीतों भरी कहानी । sukh dukh ki kahani 


वर्मा जी भाभीजी और साली को लेकर कार से कहीं जाने वाले थे।

कार में गाने सुनने के लिए मुझसे से "पैन ड्राइव" ले गए

पैन ड्राइव में मैंने  कल ही "सुख-दुःख" टाइटल वाले कुछ गाने भर के रखे थे
 कार वर्मा जी चला रहै थे.....

भाभीजी पीछे बैठी, साली अगली सीट पर बैठी...😎

म्यूज़िक चालू किया,पहला गाना बजा

आगे सुख तो पीछे दुख है...
 
भाभी जी गुस्सा हो गई.... 😎
"गाड़ी रोको" और कार से उतर गई,साली साहिबा भी उतर गई... 😂

जैसे तैसे समझाया....😂
भाभीजी अगली सीट पर बैठी साली पीछे की सीट पर बैठ गई......😎
कार चली.... 😂
तब तक गाना चेंज हो गया..... 😂

आना जाना लगा रहेगा, दुःख आएगा, सुख जाएगा...

भाभी जी फुल  गुस्सा !
 गाड़ी रूकवाई.....!
और गुस्से में खुद भी साली के साथ पिछली सीट पर बैठ गई....
कार फिर चली.......अगला गाना बजा

सुख दुख दोनों रहते जिसमें जीवन है वो गांव, कभी धूप तो कभी छांव...

भाभीजी अब गुस्से में वर्माजी को भला बुरा सुनाने लगी......😎.

जान बूझ कर ऐसे गाने बजा रहे हो, मुझे चिढ़ाने के लिए? 😎
गुस्से में साली को फिर अगली सीट पर भेज दिया....😂

आगे बढ़े......
अगला गाना आया

राही मनवा दुख की चिंता क्यों सताती है दुख तो अपना साथी है, सुख है एक छांव ढलती, आती है जाती है....

  अब तो भाभी जी बिफर गई .....😎
चौक पर बड़बड़ाते हुए कार से उतर कर एक रोड पर मुड़ गई......😎

माहौल बिगड़ता देख साली भी कार से उतर कर दूसरी रोड पर पैदल चली गईं

ड्राइविंग सीट पर बैठे वर्माजी ने सोचा.....
पत्नी को मनाने इधर जाऊं या साली को मनाने उधर जाऊं ?
तब तक अगला गाना शुरू हो गया

संसार है एक नदिया, सुख दुख दो किनारे हैं, ना जाने कहाँ जायें हम बहते धारे हैं...

😂😂😂

कोई टिप्पणी नहीं: