सुहागरात शायरी | suhagraat shayari in hindi

बहक गए हम तेरे महखाने में

देखा नहीं हुस्न तेरे जैसा जमाने में

हटाओ पर्दा दिखाओ चाँद का टुकड़ा

हल चल मच जाए दिल के वीराने में…


तोहफा-ए-दिल दे दूँ या दे दूँ चाँद तारे,

सुहागरात पे तुम्हे क्या दूँ पूछे मुझसे सारे,

ज़िंदगी तेरे नाम कर दूँ तो भी कम है,


सुहागरात शायरी


सुहागरात पर सोचता हूँ तोहफा क्या दूँ,

गुलाब से बढ़कर कोई फूल होता तो देता ज़रूर,

मगर जो खुद गुलाब है उसे गुलाब भी क्या दूँ!!


*कातिल तेरी अदाओं ने लूटा है, मुझे तेरी जफ़ाओं ने लूटा है,*

*शौक नही था मुझे मर मिटने का ,मुझे तो इन नशीली निगाहों ने लूटा हैं ।*


मस्त नजरों से देख लेना था

गर तमन्ना थी आजमाने की 

हम तो बे होश यूँ ही हो जाते 

क्या जरूरत थी मुस्कुराने की.....


suhagraat shayari in hindi


#सुनो.........ना........🌺🌹🌺

तेरे #जिक्र के बिना कैसे,  

#मोहब्बत की कहानी लिखूँ.!

तुझे #इश्क लिखूँ, #वफा लिखूँ.

या कि अपनी #जिन्दगानी लिखू...!!!


रूठने पर भी जो ना रूठे,

वो बात हो तुम ........

छूटने पर भी जो ना छूटे,

वो साथ हो तुम .........


यूँ तो संजोयी है यादें मैंने दिलों में कई,

लेकिन,जो भूले से भी ना भुलाई जा सके,

वो याद हो तुम ........


suhagraat shayari 


बेपनाह मोहब्बत तुम से मिलकर हुई,

दिल की चाहत तुम से मिलकर पूरी हुई,

वैसे तो पाया है सब कुछ दुनिया में मैने,

पर जीवन में ख़ुशी तुमसे मिलकर हुई

मेरी ज़िन्दगी में आने के लिए धन्यवाद!


तुम नही तो मेरी जिंदगी में कुछ भी नहीं

मैं शुक्रगुजार हूं उस खुदा का 

जो मेरे लिए तुम्हें इस जमींन पर लाया था


suhagraat shayari hindi


हमेशा सजती रहे यूँ ही प्यार की महफ़िल,

हर पल खुशियों से भरी रहे,

आप जिंदगी में इतने खुशकिस्मत हों की,

जीवन में हर ख़ुशी आपको मिलती रहे


आपके आने से जिंदगी में मेरी रौनक आ गई, 

आपके मुस्कुराने से कलियों में भी बहार आ गई, 

जिस प्यार के लिए ज़िन्दगी भर भटकते हैं लोग, 

वो प्यार में मेरे दामन में खुशनसीबी से आ गई. 


1 टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें