suhagraat shayari लेबल वाली पोस्ट दिखाई जा रही हैं

सुहागरात शायरी | suhagraat shayari in hindi

बहक गए हम तेरे महखाने में देखा नहीं हुस्न तेरे जैसा जमाने में हटाओ पर्दा दिखाओ चाँद का टुकड़ा हल चल मच जाए दिल के वीराने में… तोहफा-ए-दिल दे दूँ या दे दूँ चाँद तारे, सु…

और पढ़ें
ज़्यादा पोस्ट लोड करें कोई परिणाम नहीं मिला