सुहागरात शायरी | suhagraat shayari in hindi

बहक गए हम तेरे महखाने में देखा नहीं हुस्न तेरे जैसा जमाने में हटाओ पर्दा दिखा…

ज़्यादा पोस्ट लोड करें कोई परिणाम नहीं मिला