जागो तो एक बार हिन्दू जागो तो। कविता। jago to ek bar hindu jago to

Also Read

जागो तो एक बार हिन्दू जागो तो। कविता। jago to ek bar hindu jago to

जागो तो एक बार हिन्दू जागो तो
जागो तो एक बार हिन्दू जागो तो
मच गयी हा हा कार हिंदु जागो तो
जागो तो एक बार हिन्दू जागो तो
जागो तो एक बार हिन्दू जागो तो

जागी थी झांसी की रानी 
अकेली थी पर हार न मानी
जागी थी झांसी की रानी 
अकेली थी पर हार न मानी
चमक उठी तलवार हिन्दु जागो तो
चमक उठी तलवार हिन्दु जागो तो
जागो तो एक बार हिन्दू जागो तो
जागो तो एक बार हिन्दू जागो तो

हो गई जय जय कार हिंन्दू जागो तो
जागो तो एक बार हिन्दू जागो तो
जागो तो एक बार हिन्दू जागो तो

जागे थे गुरु गोविन्द प्यारे 
देश पे चारो बच्चे वारे
जागे थे गुरु गोविन्द प्यारे 
देश पे चारो बच्चे वारे
वार दिया परिवार हिन्दू जागो तो
जागो तो एक बार हिन्दू जागो तो
जागो तो एक बार हिन्दू जागो तो

जागे थे जब वीर शिवाजी 
मार भगाये मुल्ला काझी
जागे थे जब वीर शिवाजी 
मार भगाये मुल्ला काझी
जागो तो एक बार हिन्दू जागो तो
जागो तो एक बार हिन्दू जागो तो

एक बार और जागेंगे 
सबी मथुरा चल पड़ेगे
होगा मंदिर का निर्माण हिन्दू जागो तो
जागो तो एक बार हिन्दू जागो तो
जागो तो एक बार हिन्दू जागो तो

सनक उठी तलवार हिन्दू जागो तो
जागो तो एक बार हिन्दू जागो तो
जागो तो एक बार हिन्दू जागो तो

भारत माता की जय । भारत माता की जय
जय श्री राम । जय जय श्री राम  

Post a Comment

और नया पुराने